केदारनाथ में पुनर्निर्माण की विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण

CM Photo 08, dt. 15 October, 2015मुख्यमंत्री हरीश रावत ने केदारनाथ धाम में पुनर्निर्माण व पुनर्वास कार्यों के अंतर्गत लगभग 115 करोड़ लागत की विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इनमें 23 करोड़ रूपए से अधिक लागत की योजनाओं का लोकार्पण किया गया जबकि 91 करोड़ रूपए से अधिक की योजनाओं का शिलान्यास किया गया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकारण रूद्रप्रयाग द्वारा बनाई गई डाॅक्यूमेंट्री ‘केदारनाथ – कल, आज और कल’ का विमोचन भी किया। इसके अलावा www.kedarnathdham.org/in वेबसाईट, केदारनाथ धाम का फेसबुक और ट्यूटर पेज का भी शुभारम्भ किया। इसके साथ ही अब सोसल मीडिया के माध्यम से केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण की जानकारी देश विदेश में लोगों को मिल पायेगी और साथ ही केदारनाथ धाम बेवसाइट के जरिये श्रद्धालु चार धाम यात्रा की ताजा जानकारी से रूबरू हो सकेंगे।

CM Photo 12, dt. 15 October, 2015 श्री केदारनाथ धाम में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पित की गई योजनाओं में श्री केदारनाथ धाम क्षेत्र में पुनर्निर्माण कार्यों को गति प्रदान करने के उद्देश्य से भारी मशीनों की आपूर्ति हेतु निर्मित 150ग्50 मी. एमआई 26 हैलीपैड (10 करोड़ 60 लाख रूपए), श्री केदारघाटी में संचार तंत्र के सुदृढ़ीकरण एवं तीर्थयात्रियों की सुरक्षा व सुविधा हेतु जिला आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण (डीएमएमए) रूद्रप्रयाग द्वारा क्रियान्वित किये जाने वाले विभिन्न आईटी प्रोजेक्ट यथा वाईफाई व लोकल इंट्रानेट नेटवर्क का इंस्टालेशन, श्री केदार रेस्क्यू एंड्राॅयड एप्लीकेशन, खच्चरों व घोड़ो की आरएफआईडी ट्रेकिंग, मौसम के एलईडी डिजीटल डिसप्ले बोर्ड (लागत 4 करोड़ 60 लाख रूपए), श्री केदारनाथ धाम मंे यात्रियों को आधुनिक आवासीय सुविधा प्रदान करने हेतु निर्मित 25 काॅटेज (4 करोड़ 18 लाख रूपए), श्री केदारनाथ मन्दिर के पृष्ठ भाग में 70ग्40 मी. परिमाप के एमआई-17 हैलीपैड (लागत 1 करोड़ 71 लाख रूपए), एमआई-17 हैलीपैड के निकट निर्मित यात्री स्वागत केन्द्र (लागत 78 लाख रूपए), एमआई 26 हैलीपैड पर निर्मित तीर्थयात्री स्वागत केन्द्र (लागत 78 लाख रूपए), एमआई-26 हैलीपैड पर तीर्थयात्री भोजनालय (लागत 60 लाख 99 हजार रूपए), विभिन्न पुनर्निर्माण कार्यों के लिए 2 ब्लाॅक मेकिंग मशीन (लागत 18 लाख 62 हजार रूपए), टाइल मेकिंग मशीन (लागत 17 लाख 22 हजार रूपए) शामिल हैं।
CM Photo 01, dt. 15 October, 2015
इस मौके पर जिन योजनाओं का शिलान्यास किया गया उनमें वर्ष 2013 की प्राकृतिक आपदा से प्रभावित श्री केदारनाथ धाम के भवन स्वामियों एवं तीर्थ-पुरोहितों द्वारा पुनर्निर्माण के शुभ कार्य हेतु स्वेच्छा से राज्य सरकार को समर्पित निजी भूमिध्भवनों की प्रतिपूर्ति में उनके पुनर्वास के लिए नेहरू पर्वतारोहण संस्थान द्वारा निर्मित किये जाने वाले 113 भवनों का निर्माण कार्य (लागत 41 करोड़ 95 लाख रूपए), श्री केदारनाथ मन्दिर के पृष्ठ भाग में श्री केदारनाथ धाम की परिसम्पत्तियों एवं जन सामान्य की सुरक्षा हेतु त्रिस्तरीय बाढ़ सुरक्षा प्रणाली की प्रथम, द्वितीय और तृतीय सुरक्षा भित्ति का निर्माण कार्य (लागत 28 करोड़ 25 लाख रूपए), श्री केदारनाथ धाम में मन्दाकिनी एवं सरस्वती नदी के संगम पर तीर्थयात्रियों के पवित्र स्नान एवम् पूजा अर्चना हेतु निर्मित किये जाने वाले घाट का शिलान्यास (लागत 8 करोड़ 85 लाख रूपए), श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति कार्यालय, भोग मंडी व आवास स्थल का निर्माण कार्य (लागत 3 करोड़ 63 लाख रूपए), CM Photo 07, dt. 15 October, 2015श्री केदारनाथ मंदिर के निकट प्रस्तावित प्रार्थना भवनध्ध्यान केन्द्र (लागत 2 करोड़ रूपए), श्री केदारनाथ धाम मे पंजाब सिन्ध लाॅज के सामने सरस्वती नदी पर बैली ब्रिज (लागत 2 करोड़ रूपए), श्री केदारनाथ धाम में जीएमवीएन विश्रामगृह के निकट सरस्वती नदी पर बैली ब्रिज (लागत 2 करोड़ रूपए), श्री केदारनाथ मंदिर की भव्यता को पूर्वस्वरूप में लाने हेतु सरस्वती नदी बैली ब्रिज से श्री केदारनाथ मंदिर तक प्रस्तावित 50 फीट चैड़े पैदल मार्ग का निर्माण कार्य (लागत 1 करोड़ 50 लाख रूपए) व श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति ‘‘प्रवचन हाॅल’’ का जीर्णोद्वार कार्य (लागत 1 करोड़ रूपए) शामिल हैं।

जून 2013 में आई प्राकृतिक आपदा के कारण केदारनाथ समेत पूरे जिले में भारी तबाही हो गई थी। इसके बाद केदारनाथ और अन्य इलाकों में पुनर्निर्माण के कई कार्य सफलतापूर्वक पूरे किये जा चुके हैं तथा कई योजनाओं पर अभी कार्य चल रहा है।

इन पुनर्निर्माण की परियोजनाओं को सफल बनाने में जिला प्रशासन और नेहरू पर्वतारोहण संस्थान का अहम योगदान है।

हिलमेल ब्यूरो

Post Author: Hill Mail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *