नए स्वरूप में केदारपुरी

देवभूमि में आस्था का उत्सव हिल-मेल ब्यूरो, देहरादून ‘जय बदरी-केदारनाथ, गंगोत्री जय-जय, जमुनोत्री जय-जय, जय बाबा केदार तेरो जन ऊंचो स्थान, हो तने ऊंचो राखी ये देसा कु मान….।’ कुछ ऐसी ही कामना के साथ आस्था का सबसे बड़ा मेला उत्तराखंड की चारधाम यात्रा शुरू हो चुकी है। उत्तराखंड के चारों धाम बदरी-केदार, गंगोत्री-यमुनोत्री तीर्थ […]

अवनि भर रहा महिला उद्मिता की उड़ान

अवनि की शुरुआत का उद्देश्य महिलाओं और युवतियों को वित्तीय आजादी दिलाने के लिए उनके कौशल को निखारना था। दो दशक तक काम करने के बाद अवनि ने घरेलू महिलाओँ को आय का निरंतर स्रोत बना दिया है वाई एस बिष्ट महिला उद्यमिता के माध्यम से महिला सशक्तीकरण के लंबे सफर का नाम है अवनि। […]

गांव में आधुनिक शिक्षा का अनूठा प्रयास

गांव के बच्चों को पढ़ाने के लिए गुड़गांव से हर हफ्ते अपने गांव जाते हैं आशीष डबराल, आधुनिक शिक्षा के साथ आर्ट एंड क्रॉफ्ट और आधुनिक उपकरणों को चलाने का प्रशिक्षण भी दे रहे, पहली कक्षा के बच्चों को पढ़ा रहे रोबोटिक्स ए एस रावत उत्तराखंड से पलायन मानो नियति ही बन चुका है। पिछले […]

उत्तराखंड में सैन्य ढांचा बढ़ाने से सुरक्षा के साथ होगा सामाजिक, आर्थिक लाभ

उत्तराखंड के तीन जिले चीन सीमा से लगते हैं, उत्तरकाशी, चमोली और पिथौरागढ़। चीन इन तीनों इलाकों को काफी असुरक्षित मानता है। ऐसा सिर्फ इसलिए नहीं है कि वहां आधारभूत ढांचा काफी खराब है, बल्कि ऐसा इसलिए भी है क्योंकि वहां से बड़े पैमाने पर पलायन हो रहा है विंग कमांडर प्रफुल्ल बख्शी, रक्षा विशेषज्ञ […]

ना काटा तौं डाल्यूं….

बड़े पेयजल संकट का सामना कर रहा भारतीय उपमहाद्वीप का जलाशय हिल-मेल ब्यूरो भारतीय उपमहाद्वीप का जलाशय कहे जाने वाले उत्तराखंड के 13 में से 10 जिले 2007-09 के बीच जबरदस्त सूखे से गुजरे। पिछले साल भी जाड़ों के समय कम बारिश होने से राज्य को जबरदस्त जल संकट और वनों की आग जैसी स्थिति […]

बढ़ रहीं ग्लेशियर झीलें खतरे की घंटी

गढ़वाल में स्थित ग्लेशियरों के नीचे वाले इलाकों में झील फटने से होने वाली तबाही का खतरा दूसरे क्षेत्रों से अधिक ए.एस. रावत, नई दिल्ली जलवायु परिवर्तन के असर से उत्तराखंड अछूता नहीं है। राज्य में बारहमासी नदियां मौसमी नदियों में तब्दील हो रही हैं। ये वे नदियां हैं जिन्हें ग्लेशियरों से पानी मिलता था। […]

बजट में खुला सपनों का पिटारा

हिल-मेल ब्यूरो, गैरसैंण उत्तराखंड दूसरे राज्यों की तुलना में आकार में बेशक छोटा है, लेकिन उसके सपने छोटे नहीं है। पलायन के दर्द से जूझ रहा यह पर्वतीय राज्य कृषि, औद्योगिक और पावर सेक्टर के कठिन दौर से गुजर रहा है। हालांकि इस बार जनता से रायशुमारी कर तैयार किए बजट में इन समस्याओं को […]

रक्षा मंत्री का कर्नल कोठियाल के जज्बे को सलाम

निर्मला सीतारमण बोलीं, कर्नल कोठियाल के सेल्फ मोटिवेशन कांसेप्ट को देशभर में फैलाना चाहिए मनजीत नेगी, देहरादून नेहरू पर्वतारोहण संस्थान के प्रिंसिपल कर्नल अजय कोठियाल आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। उनके सामाजिक सरोकारों की फेहरिस्त दिन-प्रतिदिन लंबी होती जा रही है। हाल ही में देहरादून में आईएमए और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) में […]

जिसके आगे नहीं देश, वही घेस दे रहा रिवर्स पलायन का संदेश

 नकली फसलों के लिए एक सफल मॉडल साबित हो चुका चमोली जिले का यह गांव अब बन चुका है डिजिटल घेस से हिल-मेल के लिए हरेंद्र बिष्ट उत्तराखंड का भूगोल इस राज्य को आत्मनिर्भर बनाने के लिए बहुत सारी संभावनाएं समेटे हुए है। यहां का मौसम, वातावरण व वन्य जीवों का रहस्यमय संसार, मखमली […]

पर्वत पुत्र जला रहा स्वच्छता की अलख

भवान सिंह किसी का जन्मदिन हो, शादी-विवाह हो या कोई और उत्सव, गिफ्ट में हाथ से बना कूड़ेदान भेंट करते हैं हिल-मेल ब्यूरो प्रेरणा लेकर ही काम करना है, यह हमेशा जरूरी नहीं होता। काम ऐसे भी किया जा सकता है कि खुद प्रेरणा बन जाए। समाझ के लिए कुछ कर गुजरने के जज्बे की […]

Powered By Indian Cyber Media Technology