Home Articles posted by
समाचार
रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी ने कहा कि उत्तराखंड के विकास के लिये पर्यटन को बढ़ावा देना होगा। उत्तराखंड को भारत का स्विट्जरलैंड बनाने के लिए नये हिल स्टेशनों को डेवलप करना जरूरी है एवं उनका व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार भी जरूरी है। हिल स्टेशनों के लिये मास्टर प्लान की आवश्यकता पर बल दिया। […]Continue Reading
समाचार
हिल-मेल के उद्घाटन सत्र में प्रधानमंत्री के सचिव भास्कर खुल्बे ने कहा कि राज्य के विकास के लिए हम क्या कर सकते हैं, इसके लिए सबको एकजुट होकर चिंतन एवं मंथन कर कार्य करने होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य के तीव्र विकास के लिए कौशल विकास पर विशेष बल देना होगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय […]Continue Reading
समाचार
उत्तराखंड सरकार के सहयोग और हिल-मेल के तत्वाधान में देहरादून में पांच नवंबर को रैबार 2017 की रंगारंग शुरुआत हुई। राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रैबार के मेहमानों का स्वागत गढ़वाली भाषा में किया। उन्होंने देश में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे पहाड़ के सपूतों के योगदान को रेखांकित किया। अपने स्वागत भाषण में […]Continue Reading
स्पेशल
वीआईपी कल्चर न छोड़ने वाले नेताओं, अफसरों और रसूखदारों के लिए पहाड़ के दो बेटों ने सादगी का ऐसा उदाहरण पेश किया है, जिसकी इन दिनों खासी चर्चा हो रही है। केंद्र शासित प्रदेश अंडमान-निकोबार के उप राज्यपाल पद की जिम्मेदारी संभालने के लिए पूर्व नौसेनाध्यक्ष एडमिरल डीके जोशी खुद अपनी कार ड्राइव कर रानीखेत […]Continue Reading
समाचार
ये संभवत: पहला मौका रहा होगा जब कोई सेना प्रमुख एक शहीद के गांव जाकर उसकी याद में होने वाले कार्यक्रमों में शामिल हुआ। 10 सितंबर 2017 का दिन उत्तर प्रदेश के गाजीपुर के लिए खास था। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत खुद परमवीर चक्र विजेता और 1965 के भारत-पाक युद्ध के नायक वीर अब्दुल […]Continue Reading
Exclusive
सीमा से सटे इलाकों में रहने वाले लोग देश की आंख-कान होते हैं। ये एक तरह के प्रहरी होते हैं, जो सेनाओं तक शुरूआती सूचनाएं पहुंचाते हैं। यदि वे यहां नहीं रहेंगे तो स्थिति चिंताजनक हो जाएगी। लेकिन सीमाई क्षेत्रों में सुविधाओं की कमी के चलते अब यहां से भी पलायन देखने को मिल रहा […]Continue Reading
समाचार
कोस्ट गार्ड की कमान एक पहाड़ के सपूत के हाथ में आने के बाद यह तो तय था कि वह उत्तराखंड को कुछ ऐसा तोहफा जरूर देंगे जो यहां के युवाओं के लिए एक अच्छे भविष्य की राह प्रशस्त करेगा। कोस्ट गार्ड के महानिदेशक राजेंद्र सिंह ने अपनी इस सोच को अमली जामा भी पहना […]Continue Reading
Exclusive
उत्तराखंड की संस्कृति, भाषा, परंपराएं, तीर्थ, ऊंचे पहाड़ और मन की गहराइयों तक उतर जाने वाला नदियों और गदेरों का कल-कल निनाद हो या मंदिरों में बजने वाले शंख और घंटियों का अनहद नाद। पर्वतों की खामोशी हो या प्रकृति का अप्रतिम संगीत। पहाड़ की इस लय को दूर परदेस में बैठे हर व्यक्ति तक […]Continue Reading