होम

  • भारत-म्यांमार सरहद पर आतंकवादियों के खिलाफ जंग है जारी

    भारत-म्यांमार सरहद पर आतंकवादियों के खिलाफ जंग है जारी

    भारत-म्यांमार सरहद पर सेना के शहीद 18 जवानों की शहादत का बदला अभी पूरा नहीं हुआ है। इसीलिए 6 डोगरा यूनिट के जवान चांदेल जिले के पार्लोंग इलाके में पिछले एक हफ्ते से बिना थके दिन रात कॉम्बिंग ऑपरेशन चला रहे हैं। 4 जून को भारत-म्यांमार सरहद पर तैनात 6 डोगरा के जवान छुट्टी पर ...

  • सबसे ऊंचे जंग के मैदान में योगाभ्यास

    सबसे ऊंचे जंग के मैदान में योगाभ्यास

    अंतराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर देश और दुनिया में योग की धूम मची है। ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी की मुहिम में भारतीय सेना के जवान कैसे पीछे रह सकते हैं। अभी कुछ समय पहले ही पीएम मोदी सियाचिन बेस कैंप में सेना के जवानों के साथ दीवाली मनाकर गए थे। इसलिए जवानों में योग ...

  • केदारनाथ आपदा: आपदा उपरांत एक पड़ताल

    केदारनाथ आपदा: आपदा उपरांत एक पड़ताल

    डा. एस. पी. सती एवं वाई. पी. रैवानी उत्तराखंड राज्य का अधिकांश हिस्सा पर्वतीय है और हिमालय की ये पर्वत श्रृंखलाएं अपने आप में विश्व की सबसे कम उम्र की, अभी भी निर्माण की प्रक्रिया में और अत्यंत भंगुर हैं। अपनी इन विशिष्टताओं के कारण हिमालय बहुआपदीय क्षेत्र है। यद्यपि हिमालय में विभिन्न प्रकार की प्राकृतिक ...

  • केदारनाथ का पुनर्निर्माण और उत्तराखंड का नव निर्माण

    केदारनाथ का पुनर्निर्माण और उत्तराखंड का नव निर्माण

    उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि केदारनाथ समेत चार धाम यात्रा के सुचारू रूप से आरम्भ होने में उत्तराखंड में रहने वालों के साथ ही प्रवासी उत्तराखंडवासियों की भी अहम भूमिका है। हरीश रावत ने दिल्ली समेत तमाम महानगरों में रहने वाले प्रवासी उत्तराखंडियों से पहाड़ों में अपनी जड़ों की तरफ लौटने की ...

  • केदारनाथ से पशुपतिनाथ आपदा का सबक ?

    केदारनाथ से पशुपतिनाथ आपदा का सबक ?

    24 अप्रैल को केदारनाथ के कपाट खुलने के बाद जब मैं वापस लौट था और रास्ते में श्रीनगर में माँ धारी देवी के दर्शन कर रहा था तभी ऑफिस से फोन आया कि नेपाल में भूकम्प आया है और तुम सीधे नेपाल चले जाओ। रास्ते में गाड़ी में बैठकर मैं सोच रहा था कि ये ...

  • केदारनाथ आपदा के दौरान रिपोर्टिंग के लिए टीवी पत्रकार मनजीत नेगी सम्मानित

    केदारनाथ आपदा के दौरान रिपोर्टिंग के लिए टीवी पत्रकार मनजीत नेगी सम्मानित

    पौड़ी गढ़वाल के तल्ला बनास गांव के मूल निवासी वरिष्ठ टीवी पत्रकार मनजीत नेगी को केदारनाथ आपदा के दौरान रिपोर्टिंग के लिए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सम्मानित किया। दिल्ली में राजनाथ सिंह ने उत्तरांचल उत्थान परिषद की ओर से आयोजित कार्यक्रम में मनजीत नेगी को जन नायक माधो सिंह भंडारी स्मृति सेवा सम्मान प्रदान किया। केदारनाथ ...

  • ग्राउंड जीरो रिपोर्ट: केदारनाथ में रूठे शिव को मनाने की कोशिशें जारी !

    ग्राउंड जीरो रिपोर्ट: केदारनाथ में रूठे शिव को मनाने की कोशिशें जारी !

    जून 2013 में केदारनाथ में आई आपदा के बाद एक फिर केदार घाटी में रौनक लौट आई है। बर्फ से ढकी केदार घाटी में श्रद्धालुओं के स्वागत की तैयारियां जोर शोर से चल रही हैं। आपदा के बाद ये पहला मौका है जब 6 महीने कपाट बंद रहने के बाद पारम्परिक पूजा से भगवान केदार ...

  • क्या जनता की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पा रहे हैं हरीश रावत?

    क्या जनता की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पा रहे हैं हरीश रावत?

    मीडिया की सुर्खियों में रहना हरीश रावत को खूब आता है परन्तु उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के रूप अब तक के उनके कार्यकाल को निराशाजनक ही माना जाएगा। क्या साल 2015 में मुख्यमंत्री मूलभूत सुविधाओं और राज्य के सर्वांगीण विकास के लिए कोई महत्वपूर्ण कदम उठाएंगे। सिर्फ लोगों से मिलने और घोषणाओं से राज्य का भला ...

  • उत्तराखंड का 14 वर्ष का रिपोर्ट कार्ड

    उत्तराखंड का 14 वर्ष का रिपोर्ट कार्ड

    9 नवम्बर 2014 को उत्तराखंड राज्य के बने 14 साल पूरे हो गए। इन 14 सालों में उत्तराखंड राज्य से जो अपेक्षा की जा रही थी वह शायद उसमें खरी नहीं उतरी है। इस दिन जब उत्तराखंड में नई सुबह ने जन्म लिया था तो हर उत्तराखंडी की आंखों में एक सपना था। सपना कि ...

  • गोलाबारी के बीच लाइन ऑफ कंट्रोल का दौरा

    गोलाबारी के बीच लाइन ऑफ कंट्रोल का दौरा

    जम्मू में सीमापार से गोलाबारी के बीच आजतक की टीम ने लाइन ऑफ कंट्रोल पर फॉरवर्ड पोस्ट का एक्सक्लूसिव जायजा लिया जहां से पाकिस्तान की पोस्ट मात्र 150 मीटर पर मौजूद है। दिन और रात के वक्त निगरानी के दौरान इस फॉरवर्ड पोस्ट पर पाकिस्तान के तरफ से कई बार छोटे हथियारों से फायरिंग की ...

  • प्राकृतिक आपदा से निपटने में सेना की अहम् भूमिका

    प्राकृतिक आपदा से निपटने में सेना की अहम् भूमिका

    जम्मू कश्मीर में पिछले कुछ दिनों में हुई भीषण वारिश के कारण यहां का जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। भीषण बाढ़ से मची तबाही के बीच सेना और एनडीआरएफ मिलकर अब तक करीब एक लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचा चुकी है। हालांकि लाखों लोगों को अब भी यहां मदद का ...

  • उत्तराखंड से सुप्रीम कोर्ट में पहले जज बने जस्टिस पंत

    उत्तराखंड से सुप्रीम कोर्ट में पहले जज बने जस्टिस पंत

    उत्तराखंड मूल के और पूर्व में मेघालय के चीफ जस्टिस प्रफुल्ल चंद्र पंत को सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस के पद पर नियुक्त किया गया है। सुप्रीम कोर्ट की कोलेजियम ने पंत के नाम की संस्तुति की। सुप्रीम कोर्ट में उनका कार्यकाल तीन वर्ष से कुछ ज्यादा का रहेगा। न्यायिक सेवा में प्रदेश ही नहीं देश में ...

  • अजीत डोभाल: भारत का जेम्स बांड दाऊद इब्राहिम को उसके अंजाम तक पहुंचा पायेगा ?

    अजीत डोभाल: भारत का जेम्स बांड दाऊद इब्राहिम को उसके अंजाम तक पहुंचा पायेगा ?

    नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने से पहले ही अजीत डोभाल को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार की जिम्मेदारी सौंपने की चर्चा शुरू हो गई थी। डोभाल ने गुजरात भवन में मोदी से मुलाकात की थी और देश के सामने मौजूद सुरक्षा चुनौतियों से उन्हें अवगत कराया था। भारत के सुरक्षा मुद्दों पर स्पष्ट नजरिया ...

  • केदारनाथ आपदा के बाद आगे का रास्ता

    केदारनाथ आपदा के बाद आगे का रास्ता

    हिलमेल - (एक अभियान पहाड़ों की ओर लौटने का) वेबसाइट द्वारा 1 मार्च को ऋषिकेश में ‘केदारनाथ आपदा के बाद आगे का रास्ता’ विषय पर एक विचार गोष्ठी आयोजित की गयी। हिलमेल के एक साल पूरा होने पर आयोजित इस गोष्ठी में केदारनाथ आपदा के आठ महीनों के हालात और केदारघाटी में हुए कार्यों की ...

  • युवाओं के सपने को साकार करने में लगे कर्नल कोठियाल

    युवाओं के सपने को साकार करने में लगे कर्नल कोठियाल

    उत्तराखंड में जून के महीने में आई आपदा में नेशनल इंस्टीट्यूट आफ माउंटेनियरिंग (एनआईएम) उत्तरकाशी ने आपदा के दौरान कई इलाकों में फंसे हजारों भारतीय व विदेशी यात्रियों और पर्यटकों को सुरक्षित निकालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस साल केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ा। यहां पर हमें जो जल ...

  • हिलरत्न

    हिलरत्न

    एक अभियान... पहाड़ों की ओर लौटने का, हिलमेल के शानदार उद्घाटन के मौके पर अपने अपने कार्यक्षेत्र में उत्तराखंड का नाम रोशन करने वाले उत्तराखंड के सपूतों को सम्मानित किया गया। इनमें नौसेना प्रमुख एडमिरल डी के जोशी, इंडियन ऑयल कार्पोरेशन के चेयरमैन आर एस बुटोला, कोस्टगार्ड के अतिरिक्त महानिदेशक राजेन्द्र सिंह, गढ़वाल रेजीमेंट के ...

  • हिलमेल का शुभारम्भ: पहाड़ों की ओर लौटने का एक अभियान

    हिलमेल का शुभारम्भ: पहाड़ों की ओर लौटने का एक अभियान

    लगभग एक साल के अथक प्रयासों के बाद हिलमेल वेबसाइट की विधिवत शुरुआत हो गयी है। 1 मार्च 2013 को दिल्ली के कांस्टीटूशन क्लब में नौसेना प्रमुख एडमिरल डी के जोशी ने बटन दबाकर हिलमेल पोर्टल का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री श्री हरीश रावत उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मेजर जनरल ...

 

संवाद

राष्ट्रपति प्रतिभा देवीसिंह पाटिल रिटायरमेंट के बाद भी जनता की सेवा के अपने काम को जारी रखेंगी…

पांच साल से राष्ट्रपति और उससे पहले लगातार राज्यपाल रहते हुए राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को लगता है कि कहीं न कहीं वह अपने परिवार को उतना समय नहीं दे सकीं जितना देना चाहिए था…. राष्ट्रपति पाटिल अब अपना समय अपने नाती-पोतों के साथ व्यतीत करना चाहती हैं…. बहरहाल राष्ट्रपति पाटिल जनता की सेवा के अपने काम को आगे भी जारी रखेंगी… प्रतिभा पाटिल मानती हैं कि राष्ट्रपति जैसे सर्वोच्च पद पर एक महिला का पदासीन होना महिलाओं के लिए सम्मान की बात है…. इसके अलावा सेना के सर्वोच्च कमांडर होने के नाते सुखोई विमान पर बैठने के अनुभव को वह सुखद अनुभव के रूप में याद करती हैं…राष्ट्रपति प्रतिभा देवीसिंह पाटिल ने हिलमेल वेबसाईट को बधाई देते हुए हिलमेल के मानद सचिव मनजीत नेगी से ख़ास बातचीत की….. पेश है बातचीत के खास अंश -

हिलरत्न – कर्नल कोठियाल को विशिष्ट सेवा मेडल
चौथी  गढ़वाल राईफल्स में तैनात कर्नल अजय कोठियाल को सरकार ने विशिष्ट सेवा मेडल (वीएसएम) देने की घोषणा की है। कर्नल को यह सम्मान विश्व की आठ सबसे ऊंची चोटियों में से एक मनास्लु को फतह करने के लिए दिया गया है। कर्नल कोठियाल के नेतृत्व में गई टीम ने पिछले साल इस 8163 मीटर ऊंची चोटी को फतह किया था। इस मामले में खास बात यह है कि कर्नल कोठियाल को जम्मू-कश्मीर के पीर पंजाल क्षेत्र में पूर्व में एक मुठभेड़ में सात आतंकवादियो को मार गिराने के लिए दूसरे बड़े वीरता पुरस्कार किर्ती चक्र से नवाजा गया था।….. अधिक पढ़े

 

 

 
 

1
2
3
4
5

Comments are closed.